क्या आप जानना चाहते हैं कि Kathal Ka Achar Kaise Banta Hai तो हम यहां पर यही सीखेंगे की कटहल का अचार कैसे बनाएं।

 अचार बनाने की आवश्यक सामग्री

1 कटहल – 500 ग्राम

2 सरसों का तेल – 1 कप 

3 पीली सरसों – 3 टेबल स्पून 

4 अदरक पाउडर – 1 छोटी चम्मच 

5 नमक – 1.5 छोटी चम्मच

6 सौंफ पाउडर – 2 छोटी चम्मच 

7 लाल मिर्च पाउडर – 1/2 छोटी चम्मच

8 हल्दी पाउडर – 1 छोटी चम्मच

9 हींग – 1/4 छोटी चम्मच से कम 

10 अजवायन – 1 छोटी चम्मच 

11 मेथी के दाने -2 छोटी चम्मच

12 जीरा – 2 छोटी चम्मच

13 काली मिर्च – 1 छोटी चम्मच

14 काला नमक – 1 छोटी चम्मच

Kathal Ka Achar Kaise Banta Hai

Kathal Ka Achar Kaise Banta Hai इसके लिए एकदम कच्चा कटहल लीजिये कटहल को छोटे टुकड़ों में कांटे।

तथा एक भगोने में इतना पानी लें जिसमें कटहल डूब जाये, और इसे तेज आंच पर चढ़ाये। तथा स्नेहल का नमक डाले ताकि यह अच्छे से उबल जाए

इसके पश्चात कटहल उबल जाने पर गैस बंद कर दें और पानी से निकाल ले

तथा इसे अच्छी तरह धूप में सुखाएं इसके पश्चात

पैन में तेल डाल कर गरम कीजिये. तेल के अच्छे से गरम होने पर गैस को धीमा कर दीजिए और पैन में हींग, हल्दी पाउडर और कटहल डाल कर अच्छी तरह 2 मिनिट लगातार चलाते हुए मिक्स कर लीजिए।

इसके पश्चात गैस बंद कर दीजिए और कटहल में पीसे हुए मसाले,

सरसों, अदरक, लाल मिर्च, मेथी के दाने, जीरा, काली मिर्च, काला नमक, अजय वान, हींग, हल्दी पाउडर, नमक, तथा सरसों और इसको पूरी तरह से मिक्स कर दे अब आपका कटहल का अचार पूरी तरह से बनकर तैयार हो गया है इसके बाद तैयार कटहल का अचार को मनपसंद खाने के साथ कभी भी लुत्फ उठाएं।

ज्यादा दिन तक उपयोग करना चाहें तो कन्टेनर में इतना तेल डाल दें कि अचार तेल में डूबा रहे. तेल में पूरी तरह से डूबे रखे इस अचार का सेवन 6 महीने तक किया जा सकता है.

दोस्तों हमें उम्मीद है कि आपको Kathal Ka Achar Kaise Banta Hai विधि बहुत ही पसंद आई होगी।

ये भी पढ़े
aam ka achar banane ka tarika – 2020 HINDI
Amla Ka Achar Banane Ka Tarika – हिंदी में पूरी जानकारी 2020

अगर फिर भी आप को इस पोस्ट से जुड़ी कोई सवाल या फिर सुझाव है तो नीचे कमेंट जरुर करिए हम उसका रिप्लाई करेंगे।


deepak

मैं खाना बनाने से जुड़ी हर तरह की जानकारी यहाँ पर शेयर करता हूं एवं खाना नाश्ता और मिठाई बनाने की कला उन सभी लोगों को सिखाता हूं जो इसमें रुचि रखते हैं। खाना बनाने के साथ ही उसकी गुणवत्ता पर ध्यान रखना जरूरी होता है क्योंकि जो खाना हम खा रहे हैं वो पौष्टीक एवं सुपाच्य होना चाहिए ताकि आसानी से पच भी जाए और उस खाने से हमें शक्ति मिले।

1 Comment

Rabish Kumar · May 7, 2020 at 1:57 pm

Jankari bahut hi aachi hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *